वैदिक महालक्ष्मी अनुष्ठान

वैदिक महालक्ष्मी अनुष्ठान
(4 जनवरी - 10 जनवरी 2020, सीतापुर, उत्तर प्रदेश, भारत)
 
जब भी किसी कुंडली में दूसरे और ग्यारहवें घर का स्वामी कमज़ोर या दूषित हो , जैसे मंगल , राहु या केतु दुसरे घर में हो या उनका प्रभाव छठें या बाहरवें घर पर हो तो ऐसी स्तिथि में धन की समस्या उम्र भर सताती रहेगी.
वैदिक महालक्ष्मी अनुष्ठान केवल धन सम्बन्धी समस्याओं के लिए ही नहीं बल्कि धन , वैभव ,सुख और समृद्धि के लिए भी किया जाता है.
वैदिक महालक्ष्मी अनुष्ठान में श्री सूक्त मंत्र  जप+ स्तुति+और यज्ञ किया जाता है.  श्री यन्त्र का पूजन भी इस अनुष्ठान का एक महत्वपूर्ण भाग है . यह श्री यंत्र अनुष्ठान के उपरान्त व्यवसाय में निश्चित सफलता और परिवार की सुख और समृद्धि में वृद्धि के लिए दिया जाता है.
 
प्रतिभाग करने हेतु संपर्क करें: 
 
 

दुर्भाग्य से मुक्ति और सौभाग्य प्राप्ति चाहिए ?